2 Oct 2010

आपके लिए कैसा रहेगा 2 अक्‍तूबर 2010 का दिन ??

उम्‍मीद है , आज के भविष्‍य फल को जानने के लिए  इस पोस्‍ट के अनुसार आपने अपनी राशि और अपना लग्‍न निकाल लिया होगा , आज का दिन भी राष्‍ट्रीय और अंतराष्‍ट्रीय स्‍तर पर  कई मामलों में महत्‍वपूर्ण बना रहेगा। देश के अधिकांश कार्यक्रमों में सूझ बूझ भरे निर्णय लिए जाएंगे , मौसम भी सुखद बना रहेगा। सामान्‍य तौर पर आज का दिन आम जन के लिए बहुत ही अच्‍छा रहेगा , सभी राशिवालों के लिए अधिसंख्‍य पक्ष सुखद रहेंगे , फिर भी वृष और मकर राशिवालों के लिए अच्‍छा तथा मीन और वृश्चिक राशि वालों के लिए गडबड रहेगा। आम लोगों के समक्ष कुछ मामलों में कष्‍टकर स्थिति भी बन सकती है। पर मुख्‍य रूप से ......... 

  1. मेष लग्‍नवाले धन , परिवार और घर गृहस्‍थी को कमजोर होता पाएंगे।
  2. वृष लग्‍नवाले स्‍वास्‍थ्‍य को कमजोर तथा किसी प्रकार के झंझट को अनसुलझा पाएंगे। 
  3. मिथुन लग्‍नवाले संतान पक्ष को कमजोर होता और खर्च का तनाव महसूस करेंगे।
  4. कर्क लग्‍नवाले किसी प्रकार की संपत्ति के सुख में कमी या उसके लाभ को कमजोर पाएंगे।
  5. सिंह लग्‍नवाले भाई , बहन , बंधु , बांधव की कमजोरी के कारण प्रतिष्‍ठा पर आंच आता महसूस करेंगे।
  6. कन्‍या लग्‍नवाले भाग्‍य की कमजोर स्थिति के कारण धन की स्थिति को कमजोर पाएंगे।
  7. तुला लग्‍नवाले स्‍वास्‍थ्‍य की गडबडी के कारण अपनी जीवनशैली को कमजोर पाएंगे। 
  8. वृश्चिक लग्‍नवाले घर गृहस्‍थी के वातावरण में खर्च की अधिकता और बाहरी संदर्भों की बाधा महसूस करेंगे।
  9. धनु लग्‍नवाले लाभ प्राप्‍त करने की राह में कई प्रकार के झंझट प्राप्‍त करेंगे। 
  10. मकर लग्‍नवाले संतान पक्ष की पढाई लिखाई के वातावरण में बाधा या कैरियर में परेशानी महसूस करेंगे।।
  11. कुंभ लग्‍नवाले किसी प्रकार की संपत्ति के सुख में कमी या भाग्‍य की कमजोरी महसूस करेंगे।
  12. मीन लग्‍नवाले भाई , बहन ,बंधु बांधव की कमजोरी के कारण जीवन को कष्‍टप्रद पाएंगे।

1 Oct 2010

आपके लिए कैसा रहेगा 1 अक्‍तूबर 2010 का दिन ??

उम्‍मीद है ,आज के भविष्‍य फल को जानने के लिए  इस पोस्‍ट के अनुसार आपने अपनी राशि और अपना लग्‍न निकाल लिया होगा , आज का दिन राष्‍ट्रीय और अंतराष्‍ट्रीय स्‍तर पर  कई मामलों में महत्‍वपूर्ण बना रहेगा। देश के अधिकांश कार्यक्रमों में सूझ बूझ भरे निर्णय लिए जाएंगे। मौसम सुखद बना रहेगा , शेयर बाजार दिन भर सामान्‍य तौर का रह सकता है , पर कुछ बढत के साथ बंद होगा। सामान्‍य तौर पर आज का दिन मिथुन और मकर राशिवालों के लिए अच्‍छा तथा सिंह और वृश्चिक राशि वालों के लिए गडबड रहेगा। आम लोगों की व्‍यस्‍तता भी कई प्रकार के कार्यक्रमों में बनेगी, इस कारण जोड तोड होता रहेगा। हां , कुछ मामलों में कष्‍टकर स्थिति भी बन सकती है। पर मुख्‍य रूप से ......... 

  1. मेष लग्‍नवालों का ध्‍यान भाई, बहन , बंधु बांधव से संबंधित कार्यक्रमों पर बना रहेगा ।
  2. वृष लग्‍नवालों का ध्‍यान धन की स्थिति को मजबूत बनाने के कार्यक्रमों पर बना रहेगा। 
  3. मिथुन लग्‍नवालों का ध्‍यान स्‍वास्‍थ्‍य और व्‍यक्तित्‍व को मजबूती देने के कार्यक्रमों पर रहेगा। 
  4. कर्क लग्‍नवालों का ध्‍यान खर्च की स्थिति को मजबूत बनाने या बाहरी संबंधों को मजबूती देने पर रहेगा।
  5. सिंह लग्‍नवालों का ध्‍यान लाभ की स्थिति को मजबूत बनाते हुए अपने लक्ष्‍य को मजबूती देने पर होगा।
  6. कन्‍या लग्‍नवालों का ध्‍यान अपने पिता , अपनी नौकरी या सामाजिक , राजनीतिक मामलों की ओर रहेगा।
  7. तुला लग्‍नवालों का ध्‍यान भाग्‍य या धार्मिक गतिविधि में बना रहेगा। 
  8. वृश्चिक लग्‍नवालों का ध्‍यान अपनी जीवन शैली या रूटीन को ठीक करने में बना रहेगा।
  9. धनु लग्‍नवालों का ध्‍यान मौज मस्‍ती या अपने घर गृहस्‍थी के वातावरण को ठीक करने पर बना रहेगा। 
  10. मकर लग्‍नवालों का ध्‍यान किसी झंझट को सुलझाने में बना रहेगा। 
  11. कुंभ लग्‍नवाले अपनी या संतान की पढाई लिखाई या अन्‍य कार्यक्रम में व्‍यस्‍त रह सकते हैं। 
  12. मीन लग्‍नवाले माता , मातृभूमि या किसी अन्‍य प्रकार की संपत्ति का सुख प्राप्‍त कर सकते ।

30 Sep 2010

कल से आपलोगों का प्रतिदिन का राशिफल यहां तैयार मिलेगा !!

 पृथ्‍वी को केन्‍द्र में मानकर पूरे आसमान के 360 डिग्री को जब 12 भागों में विभक्त किया जाता है , तो उससे 30-30 डिग्री की एक राशी निकलती है। इन्हीं राशियों को मेष , वृष , मिथुन ............... मीन कहा जाता है। किसी भी जन्मकुंडली में तीन राशियों को महत्वपूर्ण माना जाता है। पहली वह राशी , जिसमें जातक का सूर्य स्थित हो, वह सूर्य-राशी के रुप में, जिसमें जातक का चंद्र स्थित हो, वह चंद्र-राशी के रुप में तथा जिस राशी का उदय जातक के जन्म के समय पूर्वी क्षितीज मे हो रहा हो , वह लग्न-राशी के रुप में महत्वपूर्ण मानी जाती है। एक महीने तक जन्‍म लेनेवाले सभी व्‍यक्ति एक सूर्य राशि के अंतर्गत आते हैं , जबकि ढाई दिन तक जन्‍म लेनेवाले एक चंद्रराशि के अंतर्गत। इन्‍हीं जन्‍म राशियों को लेकर पत्र पत्रिकाओं में भविष्‍यवाणियां की जाती है।

प्राचीन काल से ही अबतक ज्‍योतिष पर भरोसा न रखनेवालों की नजर में राशिफल तो अंधविश्‍वास है ही , ज्‍योतिष पर भरोसा रखनेवाले व्‍यक्ति भी राशिफल पर विश्‍वास नहीं कर पाते। कारण भी सही है , जहां एक ओर ज्‍योतिष की गणना को बिल्‍कुल सूक्ष्‍म माना जाता है , वहीं दूसरी ओर राशिफल जैसे स्‍थूल विषय पर किसी का विश्‍वास स्‍वाभाविक नहीं है। बावजूद इसके जनसंख्‍या का एक बडा भाग अपनी राशिफल जानने के लिए बेचैन होता है। संपूर्ण जनसंख्‍या को 12 भाग में बांटकर उसके आधार पर भविष्‍यवाणी किया जाना भले ही लोगों को नहीं जंचे , पर वास्‍तव में सही गणना की जाए तो राशिफल निरर्थक नहीं होता।

कुछ पत्रिकाओं में सूर्य-राशी के रुप में तथा कुछ में चंद्र-राशी के रुप में भविष्यफल का उल्लेख रहता है , उनकी वैज्ञानिकता पर थोडा संदेह किया जा सकता है , भले ही उसके जाल में लाखों लोग फंसे होते हों। इसकी जगह लग्न-राशी फल निकालने से पाठकों को अत्यधिक लाभ पहुंच सकता है , क्योंकि जन्मसमय में लगभग दो घंटे का भी अंतर हो तो दो व्यक्ति के लग्न में परिवर्तन हो जाता है, जबकि चंद्रराशी के अंतर्गत ढाई दिन के अंदर तथा सूर्य राशी के अंतर्गत एक महीनें के अंदर जन्मलेनेवाले सभी व्यक्ति एक ही राशी में आ जाते हैं। 

आज तो किसी जातक का लग्‍न राशि निकालने के लिए बहुत सुविधा हो गयी है। इंटरनेट में भी आप अपने लग्‍न और अपनी राशि की जानकारी के लिए कई लिंकों पर जा सकते हैं , यहां और यहां । जन्‍म के शहर के लांगिच्‍यूड और लैटिच्‍यूड की जानकारी के लिए आप इस लिंक पर भी जा सकते हैं। तो आज ही लग्‍न और राशि निकालकर तैयार रहें , कल से प्रतिदिन की राष्‍ट्रीय , अंतर्राष्‍ट्रीय घटनाओं , मौसम और शेयर बाजार की चर्चा के साथ आपलोगों का प्रतिदिन का राशिफल यहां तैयार मिलेगा।