6 Mar 2011

कैसा रहेगा आपके लिए 6 और 7 मार्च का दिन ??

6 और 7 मार्च को मेष लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता भाग्‍य , धर्म या खर्च से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। भाई , बहन या अन्‍य बंधु बांधव या किसी प्रकार के झंझट से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। माता पक्ष , किसी भी प्रकार की छोटी या बडी संपत्ति , पिता पक्ष , सामाजिक पक्ष , कैरियर , हर प्रकार के लाभ से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

6 और 7 मार्च को वृष लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता हर प्रकार के लाभ के मामले , रूटीन और जीवनशैली से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। धन , परिवार , अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई के मामले से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। भाई, बहन और अन्‍य बंधु बांधव , भाग्‍य , धर्म , पिता पक्ष , सामाजिक पक्ष , कैरियर से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

6 और 7 मार्च को मिथुन लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता घर गृहस्‍थी , पिता पक्ष , सामाजिक पक्ष , कैरियर से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। स्‍वास्‍थ्‍य , आत्‍मविश्‍वास माता पक्ष , हर प्रकार की छोटी या बडी संपत्ति से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। धन , भाग्‍य , धर्म , रूटीन , जीवनशैली ितापक्ष , सामाजिक पक्ष , कैरियर से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

6 और 7 मार्च को कर्क लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता धर्म , भाग्‍य ,प्रभाव से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। भाई , बहन या अन्‍य बंधु , खर्च या बाहरी संदर्भों से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। स्‍वास्‍थ्‍य या आत्‍म विश्‍वास , घर गृहस्‍थी , रूटीन या जीवनशैली से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

6 और 7 मार्च को भी सिंह लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई , रूटीन या जीवनशैली से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। धन या लाभ से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। खर्च या बाहरी संदर्भों , घर गृहस्‍थी , प्रभाव से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

6 और 7 मार्च को कन्‍या लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता माता पक्ष , छोटी या बडी संपत्ति , घर गृहस्‍थी से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। स्‍वास्‍थ्‍य , आत्‍मविश्‍वास , पिता पक्ष , सामाजिक पक्ष या कैरियर से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। लाभ , अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई या प्रभाव से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

6 और 7 मार्च को तुला लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता भाई , बहन या अन्‍य बंधु , खर्च और बाहरी संदर्भ से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। भाई बहन या अन्‍य बंधु , खर्च और बाह्य संदर्भ से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। पिता पद्वा , सामाजिक पक्ष या कैरियर , माता पक्ष , छ टी या बडी संपत्ति , अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

6 और 7 मार्च को भी वृश्चिक लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता धन , कोष , अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। लाभ या जीवनशैली से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। भाग्‍य , धर्म , भाई , बहन या अन्‍य बंधु , माता पक्ष , छोटी या बडी किसी प्रकार की संपत्ति से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

6 और 7 मार्च को भी धनु लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता स्‍वास्‍थ्‍य , माता पक्ष , किसी प्रकार की छोटी या बडी संपत्ति से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। घर गृहस्‍थी , पिता पक्ष , सामाजिक पक्ष या कैरियर से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। रूटीन या जीवनशैली , धन , कोष , भाई बहन या अन्‍य बंधु से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

6 और 7 मार्च को भी मकर लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता भाई , बहन या अन्‍य बंधु खर्च और बाहरी संदर्भ और बाहरी संदर्भ से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। भाग्‍य , धर्म या प्रभाव से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। घर गृहस्‍थी , स्‍वास्‍थ्‍य , धन से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

6 और 7 मार्च को भी कुंभ लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई , रूटीन या जीवनशैली से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। प्रभाव , स्‍वास्‍थ्‍य , आत्‍मविश्‍वास , खर्च और बाहरी संदर्भों से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

6 और 7 मार्च को भी मीन लग्‍नवालों की व्‍यस्‍तता स्‍वास्‍थ्‍य , पिता पक्ष , सामाजिक पक्ष , कैरियर प्रकार की छोटी या बडी संपत्ति से संबंधित कार्यों में बनी रहेगी। माता पक्ष , छोटी या बडी संपत्ति , घर गृहस्‍थी से संबंधित कार्य भी उपस्थित दिखाई देंगे। अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई , या अन्‍य माहौल , लाभ , खर्च और बाहरी संदर्भों से संबंधित मामलों में कुछ सुधार की उम्‍मीद है।

4 comments:

  1. बहुत सुन्दर जानकारी के लिए धन्यवाद|

    ReplyDelete
  2. अब तो सुबह-सुबह इसे देखने की आदत सी पड़ गई है।
    दो-दिन के वजाए इसे रोज़ाना कर दीजिए।

    ReplyDelete
  3. धन्यवाद संगीता जी ।

    ReplyDelete

टिप्‍पणी के रूप में आपके विचारों और सुझावों का स्‍वागत है ....