20 Dec 2011

कैसा रहेगा आपके लिए 20 और 21 दिसंबर का दिन ??

मेष लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर को  किसी सामाजिक कार्यक्रम में पिता पक्ष का महत्व दिखाई देगा,  कर्मक्षेत्र में भी आपको बडी जबाबदेही मिल सकती है।  काफी महत्वपूर्ण लाभ की संभावना है , इसे प्राप्त करने के लिए प्रयास बनेगा।  धन की स्थिति मजबूत होगी , इसे मजबूत बनाने के कार्यक्रम भी बनेंगे। संपन्न लोगों से विचार विमर्श होगा।  ससुराल पक्ष का महत्व बढेगा , किसी कार्यक्रम में ससुराल पक्ष के साथ तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है।  माता पक्ष के किसी कार्यक्रम में बाधा उपस्थित होगी , वाहन या किसी प्रकार की संपत्ति कष्‍ट का कारण बनेगी।  संयोग के न बन पाने से कोई असफलता दिखाई पड सकती है। किसी धार्मिक क्रियाकलापों के बाद भी निराशा ही बनेगी।  बेवजह के उपस्थित खर्चों से परेशानी होगी, बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान से तकलीफ होगा।

वृष लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर को  भाग्य , भगवान , धर्म . ये सब चिंतन के विषय बने रहेंगे।  सामाजिक कार्यक्रम या अन्य स्थान पर पिता का सुखद अनुभव प्राप्त होगा, कर्मक्षेत्र का माहौल भी मनोनुकूल होगा।  स्वास्थ्य या व्यक्तिगत गुणों को मजबूती देने के कार्यक्रम बनेंगे, स्मार्ट लोगों का साथ मिलेगा।  प्रभावशाली लोगों से संबंध की मजबूती बनेगी। कुछ झंझटों को सुलझाने में अपने प्रभाव का पूरा उपयोग करना होगा।  भाई.बहन, बंधु बांधवों से विचार के तालमेल का अभाव बनेगाए सहकर्मियों से भी संबंध में गडबडी आएगी। रूटीन काफी अस्त व्यस्त रहेगा और किसी घटना का प्रभाव जीवनशैली पर बुरे ढंग से पडेगा।  लाभ के कमजोर रहने से तनाव बनेगा।

मिथुन लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर को  रूटीन मनमौजी ढंग का होगा , किसी कार्यक्रम को अंजाम देने में समय की कमी नहीं होगी।  भाग्य , भगवान , धर्म . ये यब चिंतन के विषय बने रहेंगे।  बुद्धि ज्ञान के मामलों के लिए ये दिन महत्वपूर्ण होंगे , संतान पक्ष के मामलों में महत्वपूर्ण निर्णय लिए जा सकते हैं।  कोई बडा खर्च उपस्थित होगा, किसी कार्यक्रम में बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान के साथ आपको तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है।  धन की स्थिति कमजोर दिखाई देगी, इसे मजबूत बनाने का हर प्रयास बेकार होगा। घर गृहस्थी का वातावरण अच्छा नहीं दिखाई देगा, ससुराल पक्ष का तनाव उपस्थित हो सकता है। प्रेम संबंध में भी दूरी बनेगी।  पिता पक्ष काफी कमजोर बना रहेगा , कर्मक्षेत्र में भी परेशानी रहेगी।

कर्क लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर को  ससुराल पक्ष का महत्व बढेगा , किसी कार्यक्रम में ससुराल पक्ष के साथ तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है। रूटीन काफी व्यवस्थित होगा , जिससे समय पर सारे कार्यों को अंजाम दिया जा सकेगा।  किसी कार्यक्रम में माता पक्ष का भी महत्व दिख सकता है, वाहन या किसी प्रकार की संपत्ति को प्राप्त करने के लिए मेहनत जारी रहेगी।  काफी महत्वपूर्ण लाभ की संभावना है , इसे प्राप्त करने के लिए प्रयास बनेगा।  स्वास्थ्य काफी गडबड रहेगा, आत्मविश्वास की कमी बनेगी, व्यक्तित्व कमजोर दिखाई देगा।  झंझटों को सुलझाने में प्रभाव की कमजोर स्थिति के कारण दिक्कत आएगी।  संयोग के न बन पाने से कोई असफलता दिखाई पड सकती है। किसी धार्मिक क्रियाकलापों के बाद भी निराशा ही बनेगी।

सिंह लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर को  प्रभावशाली लोगों से संबंध की मजबूती बनेगी। कुछ झंझटों को सुलझाने में अपने प्रभाव का पूरा उपयोग करना होगा।  ससुराल पक्ष का महत्व बढेगा , किसी कार्यक्रम में ससुराल पक्ष के साथ तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है।   भाई , बहन , बंधु बांधवों का महत्व बढेगा , पर किसी कार्यक्रम में भाई.बहन , बंधु.बांधवों के साथ तालमेल बैठाने की आवश्यकता पड सकती है।  किसी सामाजिक कार्यक्रम में पिता पक्ष का महत्व दिखाई देगा, कर्मक्षेत्र में भी आपको बडी जबाबदेही मिल सकती है।  बेवजह के उपस्थित खर्चों से परेशानी होगी, बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान से तकलीफ होगा।  वातावरण की कमजोरी के कारण पढाई लिखाई या किसी प्रकार का ज्ञान प्राप्त करना कठिन रहेगा।  संतान से संबंधित माहौल भी कमजोर बना रहेगा। रूटीन काफी अस्त व्यस्त रहेगा और किसी घटना का प्रभाव जीवनशैली पर बुरे ढंग से पडेगा।

कन्या लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर बुद्धि ज्ञान के मामलों के लिए महत्वपूर्ण होंगे , संतान पक्ष के मामलों में महत्वपूर्ण निर्णय लिए जा सकते हैं।  प्रभावशाली लोगों से संबंध की मजबूती बनेगी। कुछ झंझटों को सुलझाने में अपने प्रभाव का पूरा उपयोग करना होगा।  धन की स्थिति मजबूत होगी , इसे मजबूत बनाने के कार्यक्रम भी बनेंगे। संपन्न लोगों से विचार विमर्श होगा।  भाग्य , भगवान , धर्म . ये सब चिंतन के विषय बने रहेंगे।  लाभ के कमजोर रहने से तनाव बनेगा।  माता पक्ष के किसी कार्यक्रम में बाधा उपस्थित होगी , वाहन या किसी प्रकार की संपत्ति कष्‍ट का कारण बनेगी। घर गृहस्थी का वातावरण अच्छा नहीं दिखाई देगा,  ससुराल पक्ष का तनाव उपस्थित हो सकता है। प्रेम संबंध में भी दूरी बनेगी।

तुला लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर को  किसी कार्यक्रम में माता पक्ष का भी महत्व दिख सकता है,  वाहन या किसी प्रकार की संपत्ति को प्राप्त करने के लिए मेहनत जारी रहेगी।  बुद्धि ज्ञान के मामलों के लिए ये दिन महत्वपूर्ण होंगे , संतान पक्ष के मामलों में महत्वपूर्ण निर्णय लिए जा सकते हैं।  स्वास्थ्य या व्यक्तिगत गुणों को मजबूती देने के कार्यक्रम बनेंगे, स्मार्ट लोगों का साथ मिलेगा। रूटीन काफी व्यवस्थित होगा , जिससे समय पर सारे कार्यों को अंजाम दिया जा सकेगा।  पिता पक्ष काफी कमजोर बना रहेगा , कर्मक्षेत्र में भी परेशानी रहेगी।  भाई.बहन, बंधु बांधवों से विचार के तालमेल का अभाव बनेगा,  सहकर्मियों से भी संबंध में गडबडी आएगी।  झंझटों को सुलझाने में प्रभाव की कमजोर स्थिति के कारण दिक्कत आएगी।

वृश्चिक लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर को   भाई , बहन , बंधु बांधवों का महत्व बढेगा , परउनके साथ तालमेल बैठाने की आवश्यकता पड सकती है।  किसी कार्यक्रम में माता पक्ष का भी महत्व दिख सकता है, वाहन या किसी प्रकार की संपत्ति को प्राप्त करने के लिए मेहनत जारी रहेगी।  ससुराल पक्ष का महत्व बढेगा , किसी कार्यक्रम में ससुराल पक्ष के साथ तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है।  कोई बडा खर्च उपस्थित होगा, किसी कार्यक्रम में बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान के साथ आपको तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है।  संयोग के न बन पाने से कोई असफलता दिखाई पड सकती है। किसी धार्मिक क्रियाकलापों के बाद भी निराशा ही बनेगी।  धन की स्थिति कमजोर दिखाई देगी, इसे मजबूत बनाने का हर प्रयास बेकार होगा।  वातावरण की कमजोरी के कारण पढाई लिखाई या किसी प्रकार का ज्ञान प्राप्त करना कठिन रहेगा।  संतान से संबंधित माहौल भी कमजोर बना रहेगा।

धनु लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर को  धन की स्थिति मजबूत होगी , इसे मजबूत बनाने के कार्यक्रम भी बनेंगे। संपन्न लोगों से विचार विमर्श होगा। भाई , बहन , बंधु बांधवों का महत्व बढेगा , पर किसी कार्यक्रम में उनके साथ तालमेल बैठाने की आवश्यकता पड सकती है।  प्रभावशाली लोगों से संबंध की मजबूती बनेगी। कुछ झंझटों को सुलझाने में अपने प्रभाव का पूरा उपयोग करना होगा।  काफी महत्वपूर्ण लाभ की संभावना है , इसे प्राप्त करने के लिए प्रयास बनेगा। रूटीन काफी अस्त व्यस्त रहेगा और किसी घटना का प्रभाव जीवनशैली पर बुरे ढंग से पडेगा।  स्वास्थ्य काफी गडबड रहेगा, आत्मविश्वास की कमी बनेगीए व्यक्तित्व कमजोर दिखाई देगा।  माता पक्ष के किसी कार्यक्रम में बाधा उपस्थित होगी , वाहन या किसी प्रकार की संपत्ति कष्‍ट का कारण बनेगी।

मकर लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर को  स्वास्थ्य या व्यक्तिगत गुणों को मजबूती देने के कार्यक्रम बनेंगे, स्मार्ट लोगों का साथ मिलेगा।  धन की स्थिति मजबूत होगी , इसे मजबूत बनाने के कार्यक्रम भी बनेंगे। संपन्न लोगों से विचार विमर्श होगा।  बुद्धि ज्ञान के मामलों के लिए ये दिन महत्वपूर्ण होंगे , संतान पक्ष के मामलों में महत्वपूर्ण निर्णय लिए जा सकते हैं।  किसी सामाजिक कार्यक्रम में पिता पक्ष का महत्व दिखाई देगा, कर्मक्षेत्र में भी आपको बडी जबाबदेही मिल सकती है। घर गृहस्थी का वातावरण अच्छा नहीं दिखाई देगा, ससुराल पक्ष का तनाव उपस्थित हो सकता है। प्रेम संबंध में भी दूरी बनेगी।  भाई.बहन, बंधु बांधवों से विचार के तालमेल का अभाव बनेगा, सहकर्मियों से भी संबंध में गडबडी आएगी।  बेवजह के उपस्थित खर्चों से परेशानी होगी, बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान से तकलीफ होगा।

कुंभ लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर को  स्वास्थ्य या व्यक्तिगत गुणों को मजबूती देने के कार्यक्रम बनेंगे, स्मार्ट लोगों का साथ मिलेगा।  कोई बडा खर्च उपस्थित होगा, किसी कार्यक्रम में बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान के साथ आपको तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है।  किसी कार्यक्रम में माता पक्ष का भी महत्व दिख सकता है, वाहन या किसी प्रकार की संपत्ति को प्राप्त करने के लिए मेहनत जारी रहेगी।  भाग्य , भगवान , धर्म . ये यब चिंतन के विषय बने रहेंगे।  झंझटों को सुलझाने में प्रभाव की कमजोर स्थिति के कारण दिक्कत आएगी।  धन की स्थिति कमजोर दिखाई देगी, इसे मजबूत बनाने का हर प्रयास बेकार होगा।  लाभ के कमजोर रहने से तनाव बनेगा।

मीन लग्नवालों के लिए 20 और 21 दिसंबर को  कोई बडा खर्च उपस्थित होगा, किसी कार्यक्रम में बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान के साथ आपको तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है।  काफी महत्वपूर्ण लाभ की संभावना है , इसे प्राप्त करने के लिए प्रयास बनेगा।   भाई , बहन , बंधु बांधवों का महत्व बढेगा , पर किसी कार्यक्रम में भाई.बहन , बंधु.बांधवों के साथ तालमेल बैठाने की आवश्यकता पड सकती है। रूटीन काफी व्यवस्थित होगा , जिससे समय पर सारे कार्यों को अंजाम दिया जा सकेगा।  वातावरण की कमजोरी के कारण पढाई लिखाई या किसी प्रकार का ज्ञान प्राप्त करना कठिन रहेगा।  संतान से संबंधित माहौल भी कमजोर बना रहेगा।  स्वास्थ्य काफी गडबड रहेगा, आत्मविश्वास की कमी बनेगीए व्यक्तित्व कमजोर दिखाई देगा।  पिता पक्ष काफी कमजोर बना रहेगा , कर्मक्षेत्र में भी परेशानी रहेगी। 

No comments:

Post a Comment

टिप्‍पणी के रूप में आपके विचारों और सुझावों का स्‍वागत है ....